इस्लामी आतंकवाद पर JNU का एक और स्पष्टीकरण

Islamic terrorism course will not be started in JNU, clarification of the university's registrar in response to the letter and notice of Maulana Mahmud Madani, general secretary of Jamiat Ulama A Hind

By: Watan Samachar Desk
Islamic terrorism course will not be started in JNU, clarification of the university's registrar in response to the letter and notice of Maulana Mahmud Madani, general secretary of Jamiat Ulama A Hind

नई दिल्ली: देश की प्रसिद्ध युनीवर्सिटी जवाहरलाल नेहरू के रजिस्ट्रार डा० प्रमोद कुमार ने मौलाना महमूद मदनी  महासचिव  जमीयत उलमा ए हिन्द के नाम अपने जवाबी पत्र में स्पस्ट किया है कि युनीवर्सिटी की प्रशासनिक कौन्सिल ‘इस्लामी आतंकवाद ‘ के शीर्षक से किसी भी तरह का कोर्स शुरू करने का प्लान – इरादा नहीं रखती. उन्होंने इस बात को पूरी तरह से निरस्त कर दिया कि कौन्सिल के पास कभी इस तरह का कोई प्लान था.

letter.jpg
स्पष्ट रहे कि पिछले दिनों मई माह में मौलाना महमूद मदनी ने विभिन्न जानकार सूत्रों और युनीवर्सिटी के अहम ज़िम्मेदारों की तरफ से इस तरह की खबर आने के बाद, मानव विकास एवं संसाधन मंत्रालय भारत सरकार, यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रोफेसर एम जे कुमार और चांसलर श्री विजय कुमार सारस्वत  को पत्र लिख कर इसका कड़ा विरोध किया था.

 महमूद मदनी ने अपने पत्र में आतंकवाद को इस्लाम से जोड़ कर दिखाने को एक घिनौनी साजिश और इस्लाम धर्म का अपमान करार दिया था. मदनी ने अपने पत्र में जेएनयू प्रशासन को चेताया था कि अगर उस ने अपना फ़ैसला वापस नहीं लिया तो जमीयत उलमा ए हिन्द कानूनी – अदालती कार्रवाही करने पर मजबूर होगी. जिसके बाद जेएनयू के रजिस्ट्रार ने मदनी को एक पत्र लिख कर अपनी ओर से स्पष्टीकरण दिया है

जेएनयू प्रशासन के स्पष्टीकरण के बाद मौलाना महमूद मदनी ने संतोष प्रकट करते हुए कहा कि अब और किसी तरह की कार्रवाही की आवश्यकता नहीं है, हमें आशा है कि युनीवर्सिटी अपने धर्मनिरपेक्ष चरित्र और उच्च शैक्षिक मूल्यों के लिए कार्य जारी रखेगी.

You May Also Like

Notify me when new comments are added.

धर्म

ब्लॉग

अपनी बात

Poll

Should the visiting hours be shifted from the existing 10:00 am - 11:00 am to 3:00 pm - 4:00 pm on all working days?

SUBSCRIBE LATEST NEWS VIA EMAIL

Enter your email address to subscribe and receive notifications of latest News by email.